Shared Hosting Vs Cloud Hosting – क्या अंतर है दोनों में ?

जब भी हम Web Hosting का जिक्र करते हैं तो अक्सर उसमे हम विभिन्न प्रकार की Web Hosting के बारे में बात करते हैं जैसे Shared Hosting, Cloud Hosting, VPS Hosting, Dedicated Hosting इत्यादि। हालाँकि, इनमे से जो दो बहुत ही लोकप्रिय वेब होस्टिंग हैं वो हैं Shared Hosting और Cloud Hosting. 

कई लोग इन विभिन्न प्रकार की Web Hosting को लेकर थोड़े Confuse रहते हैं खासतौर पर नए Users जोकि अपनी पहली वेबसाइट बनाने के बारे में सोच रहे होते हैं। तो यह पोस्ट उन्ही दोस्तों के लिए है ताकि वो ये समझ सके की ये दोनों होस्टिंग किस प्रकार से एक दूसरे से अलग हैं और इनमे से कौन सी बेहतर है।

तो दोस्तों आज के इस पोस्ट मै आपको बताऊँगा की Shared Hosting और Cloud Hosting में क्या अंतर होता है और इनमे से हमे कौन सी होस्टिंग इस्तेमाल करनी चाहिए। तो चलिए बिना देरी किये इन दोनों के अन्तरो के बारे में जानते हैं। 

Shared Hosting Vs Cloud Hosting – क्या अंतर है दोनों में ?

दोस्तों शेयर्ड होस्टिंग और क्लाउड होस्टिंग के अंतरो के बारे में जानने के लिए पहले हम जान लेते हैं की Shared Hosting क्या है और फिर हम जानेंगे की Cloud Hosting क्या होती है। इन दोनों के बारे में जानते ही आपको इन दोनों के बीच का अंतर समझ में आ जायेगा। तो इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ियेगा। 

Shared Hosting:

दोस्तों जैसा की आपको नाम से ही पता चल रहा होगा की Shared Hosting एक ऐसी Web Hosting होती है जहाँ पर की एक Physical Web Server को कई सारे Users इस्तेमाल करते हैं। जिसका मतलब यह हुआ की वह सभी Users उस Web Server के Resources को Share करते हैं। 

दूसरे शब्दों में कहूँ तो Shared Hosting एक ऐसी Web Hosting होती है जिसमे के एक Physical Web Server कई सारी Websites को होस्ट करता है। 

शेयर्ड होस्टिंग का Concept मार्केट में इसलिए आया क्यूँकि Web Hosting की Cost बहुत ही ज्यादा होती है जिसे की हर कोई Afford नहीं कर सकता है। 

मान लीजिये की आपको एक छोटी सी वेबसाइट होस्ट करनी है और आपके पास Shared Hosting का विकल्प नहीं है तो आपको एक पूरा Web Server लेना होगा आपकी वेबसाइट को होस्ट करने के लिए। जिसकी Cost बहुत ही ज्यादा होगी। 

इस तरह से ना तो आप Web Server के पूरे Resources और Power का इस्तेमाल कर पायेंगे साथ ही आपको ज्यादा पैसे भी देने पड़ेंगे। इस समस्या के समाधान हेतु ही Shared Hosting का Concept मार्किट में लाया गया। 

Shared Hosting में हम हर User को Web Server पर थोड़ा-थोड़ा Space दे देते हैं जहाँ पर की वो सभी अपनी-अपनी Websites को होस्ट कर लेते हैं। इस प्रकार से Web Hosting पर आने वाली Cost उन सभी Users के बीच बँट जाती है और आपके लिए Web Hosting सस्ती हो जाती है। 

दोस्तों अभी तक हमने जाना की Shared Hosting में हम एक Physical Web Server पर अपनी Website को होस्ट करते हैं, इसमें एक Web Server पर कई सारी Websites होस्ट होती हैं और यह काफी सस्ती होती है। 

तो चलिए अब इसके कुछ फायदों के बारे में जान लेते हैं। 

Shared Hosting के फायदे:

शेयर्ड होस्टिंग का सबसे बड़ा फायदा यही होता है की यह बहुत ही सस्ती होती है जिसकी वजह से हर Budget वाला User इसे आसानी से Afford कर पाता है। यह इतनी सस्ती होती है की कई कंपनियों ने तो मात्रा 40-50 रुपये प्रति माह में भी Shared Hosting प्रदान करना शुरू कर दिया है।

शेयर्ड होस्टिंग का दूसरा सबसे बड़ा फायदा ये होता है की यह काफी User-Friendly होती है। आज के समय में ज्यादातर वेब होस्टिंग कंपनिया आपको एक easy-to-use cPanel प्रदान करती हैं जिस पर की आप आसानी से अपनी वेबसाइट बना सकते हैं। 

यह कंपनिया आपको अपने cPanel में एक One Click Apps Installer प्रदान करती हैं जिसके जरिये आप WordPress, Joomla, Drupal जैसे Software को कुछ ही Clicks में Install कर सकते हैं और अपनी वेबसाइट बना सकते हैं। 

ये भी पढ़ें: एक WordPress Website कैसे बनाये ? (Recommended)

Shared Hosting का तीसरा सबसे बड़ा फायदा ये होता है की इसमें आपको किसी भी प्रकार की Technical Maintenance नहीं करनी होती है। आपका होस्ट ही आपके लिए आपके Web Server को maintain करता है और आपकी Website को सुरक्षा भी प्रदान कराता है। 

Shared Hosting के नुकसान:

इन सभी फायदों के साथ Shared Hosting के कुछ नुकसान भी होते हैं जैसे :

Shared Hosting में आपकी Website Slow हो सकती है या फिर ऑफलाइन भी हो सकती है। 

दोस्तों अगर आपके Server के कुछ Users की Websites पर बहुत ही ज्यादा ट्रैफिक आने लगे तो हो सकता है की आपके Server पर अत्यधिक Load पड़ने लगे और वो slow हो जाये। इसके फलस्वरूप आपकी वेबसाइट भी धीमे लोड होने लगेगी या फिर हो सकता है की वो लोड ही न हो। 

वैसे तो वेब होस्टिंग कंपनिया आपको एक Limited Bandwidth प्रदान करती हैं और अगर आपकी वेबसाइट पर उस लिमिट से ज्यादा ट्रैफिक आने लगता है तो यह कंपनिया आपको अपना प्लान अपग्रेड करने को कहती हैं या फिर आपकी ट्रैफिक पर कैप लगा देती हैं ताकि आपका ट्रैफिक उनकी तय किये गए दायरों के अंदर ही रहे। 

दोस्तों शेयर्ड होस्टिंग का दूसरा सबसे बड़ा नुकसान ये होता है की इसमें आपको Limited Resources मिलते हैं जिसकी वजह से इस पर आप High Traffic Websites को होस्ट नहीं कर सकते हैं। 

तीसरा जो नुकसान होता है वो यह है की Shared Hosting में आपको ज्यादा customization की सुविधा नहीं मिलती है क्यूँकि इसमें आपके अलावा भी कई सारे users की websites होस्ट होती हैं और आपकी वेब होस्टिंग कंपनी ही आपके Web Server को मेन्टेन करती है। 

दोस्तों Shared Hosting में एक Web Server कई सारी Websites को होस्ट करता है तो हो सकता है की कोई Malicious Activity किसी एक Website से दूसरी वेबसाइट पर ट्रांसफर हो जाये। हालाँकि ऐसा होने के Chances बहुत कम होते हैं लेकिन Shared Hosting के Environment में ये संभव है। 

ये भी पढ़ें: भारत के लिए 10 सबसे अच्छी Web Hosting प्रदान करने वाली कंपनिया। (Recommended)

तो दोस्तों ये तो थी Shared Hosting के बारे में बेसिक जानकारी तो चलिए अब जानते हैं की Cloud Hosting क्या है ?

Cloud Hosting:

Web Hosting की दुनिया में Cloud Hosting एक नया Concept है। इस प्रकार की Web Hosting में आपकी Website किसी एक Physical Web Server पर होस्ट न होकर कई सारे Cloud Servers पर होस्ट होती है। 

इसका फायदा यह होता है की आपकी Website हमेशा ऑनलाइन बनी रहती है। 

इसमें आपको Space की जगह Cloud Cluster का एक पार्ट दिया जाता है जिसमे उपलब्ध सभी Cloud Servers मिलकर आपकी वेबसाइट को होस्ट करते हैं। 

क्यूँकि इसमें कई सारे Cloud Servers मिलकर आपकी वेबसाइट को होस्ट करते हैं तो उन सभी का Load आपस में बँट जाता है जिसकी वजहे से आपकी वेबसाइट हमेशा Smoothly चलती रहती है। 

Shared Hosting के विपरीत जहाँ की आपके Server के बंद हो जाने पर आपकी वेबसाइट भी ऑफलाइन हो जाती है, Cloud Hosting में अगर एक Server ख़राब भी हो जाता है तो दूसरा सर्वर उसकी जगह ले लेता है और आपकी Website को हमेशा ऑनलाइन बनाये रखता है। 

Cloud Hosting के फायदे:

Cloud Hosting के अनेको फायदे होते हैं जिनमे से कुछ इस प्रकार हैं :

दोस्तों क्लाउड होस्टिंग के दो Main फायदों के बारे में तो मै आपको बता ही चुका हूँ की एक तो ये आपकी वेबसाइट को हमेशा ऑनलाइन बनाये रखती है और इसमें लोड servers के बीच बँट जाता है। 

इसके अलावा भी Cloud Hosting के कई फायदे होते हैं जैसे :

Cloud Hosting में आपको ज्यादा customization की सुविधा मिलती है। इसमें आप अपनी जरूरतों के अनुसार कभी भी Resources को बढ़ा या घटा सकते हैं जोकि Shared Hosting के केस में संभव नहीं है। वहाँ सीधा आपको पूरा प्लान ही अपग्रेड करना पड़ता है। 

Cloud Hosting का दूसरा सबसे बड़ा फायदा ये होता है की ये Shared Hosting के मुक़ाबले ज्यादा Secure होती है। इसमें आपकी Website कई सारे Cloud Servers पर होस्ट होती है तो अगर एक Server ख़राब भी हो जाता है तो आप अपनी Website की Files को दूसरे Servers से Recover कर सकते हैं। 

दोस्तों Cloud Hosting का तीसरा सबसे बड़ा फायदा ये होता है की यह High Traffic वाली Websites को भी होस्ट करने में सक्षम होती है। 

Cloud Hosting के नुकसान:

क्लाउड होस्टिंग के मूलतः दो नुकसान होते हैं। 

पहला नुक्सान यह होता है की ये Shared Hosting के मुक़ाबले महँगी होती है। हालाँकि आजकल कई Web Hosting कंपनिया जैसे FastComet, ChemiCloud इत्यादि आपको Shared Hosting की तरह ही Cloud Hosting प्रदान करती हैं जोकि काफी सस्ती होती है। 

क्लाउड होस्टिंग का दूसरा सबसे बड़ा नुक्सान यह होता है की ये पूरी तरह से इंटरनेट पर निर्भर होती है। जिसका मतलब यह हुआ की इसमें हम अपने डाटा को केवल तब ही Access कर सकते हैं जब की इंटरनेट की सुविधा उपलब्ध हो। 

ये भी पढ़ें: 10 सबसे अच्छी Cloud Hosting प्रदान करने वाली कंपनिया। (Recommended)

Shared Hosting और Cloud Hosting में कौन बेहतर है ?

दोस्तों Shared Hosting के मुक़ाबले Cloud Hosting काफी बेहतर होती है क्यूँकि इसमें आपकी वेबसाइट कई सारे servers पर होस्ट होती है जिसकी वजह से आपकी वेबसाइट हमेशा ऑनलाइन बनी रहती है। इसके अलावा यह ज्यादा Secure भी होती है और आपको ज्यादा customization की सुविधा भी उपलब्ध कराती है। 

इसके साथ ही आप Cloud Hosting पर हाई ट्रैफिक websites को भी होस्ट कर सकते हैं जोकि Shared Hosting के केस में संभव नहीं है। 

हालाँकि, Shared Hosting क्लाउड होस्टिंग के मुक़ाबले सस्ती होती है जिसकी वजह से नए users आसनी से इस पर अपनी वेबसाइट को होस्ट कर सकते हैं। 

Shared Hosting और Cloud Hosting में से किसी चुनें ?

अगर आप एक नए User है और आपका बजट लिमिटेड है तो आप Shared Hosting से ही शुरुआत करें। यह आपको काफी सस्ती पड़ेगी। आप बाद में कभी भी अपने प्लान्स को अपग्रेड कर सकते हैं या होस्टिंग को भी बदल सकते हैं। 

हालाँकि, अगर आप थोड़ा ज्यादा पैसा खर्च करना अफ़्फोर्ड कर सकते हैं तो मै आपको सलाह दूँगा की आप अपनी Website को Cloud Hosting पर होस्ट करें। आजकल FastComet और ChemiCloud जैसी कंपनिया आपको शेयर्ड होस्टिंग के दामों में ही Cloud Hosting प्रदान कर रहीं हैं तो आप चाहे तो इनसे भी Cloud Hosting खरीद सकते हैं। 

अंतिम शब्द:

दोस्तों ये पूरी तरह से आप पर निर्भर करता है की आप किस प्रकार की Web Hosting का इस्तेमाल करें। अगर आपकी जरूरते कम हैं या आप अपनी पहली वेबसाइट बना रहें हैं तो आप Shared Hosting ले सकते हैं। हालाँकि, अगर आपकी वेबसाइट एक हाई ट्रैफिक वेबसाइट है तो आप Cloud Hosting का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

तो दोस्तों कैसा लगा आपको मेरा यह पोस्ट अगर आपको मेरा यह पोस्ट अच्छा लगा हो तो आप मेरी वेबसाइट और YouTube Channel को भी Subscribe कर सकते हैं।

इस पोस्ट को Share करके हमारी मदद करें :

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

shares
error: Content is protected !!